Draupadi Murmu Biography in Hindi | द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय (2022 राष्ट्रपति) - Master Eyes

Hi Friends, आपका एक बार फिर से हमारे इस ब्लॉग में स्वागत है आज के इस लेख में हम बात करने वाले है भारत की नई राष्ट्रीपति द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) के बारे में।

Draupadi Murmu Biography in Hindi
Draupadi Murmu Biography in Hindi 

हम बात करेंगें Draupadi Murmu Biography in Hindi यानी की द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय हिंदी में। द्रौपदी मुर्मू एक भारतीय राजनीतिज्ञ है, जो अब भारत देश की राष्ट्रपति के पद पर विराजमान है। 

जब से भारतीय जनता पार्टी ने next नए राष्ट्रपति उम्मीदवार की घोषणा की है तब से ही लोगों के जहन में द्रोपदी मुर्मू जी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी जानने का इच्छा जाग उठी है, आप हमारे इस पोस्ट को पढ़ रहे है मतलब की आप भी राष्ट्रपति जी के बारे में जानना चाहते होंगे।


भारत की प्रथम महिला राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटिल बनी थी, जिसके बाद वर्ष 2022 में भारत को दूसरी महिला राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू जी बनी है। तो चलिए दोस्तों अब बिना देरी किए जानते है द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय।

Daily Updates पाए  -

Draupadi Murmu Biography in Hindi (द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय)


पूरा नाम द्रौपदी मुर्मू
पिताजी का नाम बिरांची नारायण टुडू
पेशा राजनीतिज्ञ
पार्टी भारतीय जनता पार्टी
पति श्याम चरण मुर्मू (स्वर्गवास)
जन्म तिथि 20 जून 1958
आयु 64 वर्ष
जन्म स्थान मयूरभंज, उड़ीसा, भारत
वजन 74 किलो
लंबाई 5 फिट 4 इंच
जाति अनुसूचित जनजाति
धर्म हिंदू
बेटी इतिश्री मुर्मू 
संपत्ति 10 लाख
भारतीय जनता पार्टी से कब जुड़ी 997 में

जन्म और जीवन परिचय


द्रोपदी मुर्मू जी का जन्म उड़ीसा के “मयूरभंज” इलाके में 20 जून 1958 में हुआ था। जानकारी के लिए यह भी बता दूं की द्रोपदी मुर्मू जी एक आदिवासी समुदाय से संबंध रखने वाली चर्चित नेताओं में से एक हैं।

उनके पिता जी का नाम "बिरंची नारायण टुडू" है। द्रौपदी जी की शादी "श्याम चरण मुर्मू" के साथ हुई है, जिनका स्वर्गवास हो चूका है। साथ ही उनके दो बेटे भी थे, और इनके दोनो बेटे भी इस दुनिया में नहीं है। लेकिन एक बेटी है, जिसका नाम "इतिश्री मुर्मू" है।

द्रोपदी जी ने अपना जीवन देश के लिए समर्पित किया है। इनकी बेटी इतिश्री का विवाह भी हो चुका है और उनके पति का नाम गणेश हेम्ब्रम है। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा निजी स्कूल से प्राप्त की है और राम देवी महिला कॉलेज भुवनेश्वर (ओडिशा) से कला स्नातक में ग्रेजुशन की डिग्री हासिल की।
 

उनका जीवन वर्ष 2009 से काफी दुखदायक रहा। क्योंकि इस वर्ष द्रौपदी मुर्मू के एक बेटे की असमय मौत हुई, बेटे के मृत्यु के चलते उन्हे काफी बड़ा सदमा लगा था, बाउजूद इसके उन्होंने हार नहीं मानी और खुद को इस सदमे से बाहर निकलने हेतु वे ब्र्हमाकुमारी संस्था के साथ जुड़ी।

लेकिन वर्ष 2013 भी उनके लिए ठीक नहीं था क्योंकि इस वर्ष उन्होंने अपने दूसरे बेटे को एक सड़क हादसे में खो दिया। उनके बेटे की मौत के कुछ दिन पश्चात ही उनके भाई और माँ का भी स्वर्गवास हो गया। 

द्रौपदी मुर्मू जी अपने जीवन में आगे ही बढ़ रही थी कि 2014 में उन्होंने अपने पति को भी खो दिया। उनके जीवन में बहुत ही दु:ख था मगर उन्होंने कभी भी हार नहीं मानी और वर्ष 2015 में झारखंड की पहली महिला राज्यपाल बनी।

कैसे आई द्रौपदी मुर्मू राजनीति में


द्रौपदी मुर्मू जी ने रायरंगपुर में श्री इंटीग्रल एजुकेशन सेंटर में एक सहायक शिक्षक के रूप में अपने करियर को शुरूआत की थी, जिसके बाद उन्होंने बिजली और सिंचाई विभाग में ओडिशा सरकार के साथ मिलकर काफी काम भी किया।

हमने आपको पहले ही बताया कि द्रौपदी मुर्मू जी आदिवासी समाज की एक महिला है, को पढ़ी लिखी है। जिसके चलते उनके ऊपर अपने समाज के प्रति काफी सारी जिम्मेदारियाँ थी। द्रौपदी मुर्मू जी ने अपना सर्वत्र जीवन समाज की सेवा, गरीबों, दलितों आदि की सहायता करने में लगा दिया।

द्रौपदी मुर्मू जी ने राजनीति में अपना पहला कदम वर्ष 1997 में रखा, जिसके बाद उन्होंने पार्षद के रूप में स्थानीय चुनाव पर विजय हासिल की और उसी वर्ष भाजपा के ST मोर्चा की राज्य उपाध्यक्ष भी बन गई। 

फिर उन्होंने भाजपा के टिकट पर चुनाव लडा और दो बार रायरंगपुर पर सीट हासिल कर ली, और वर्ष 2000 में ओडिशा सरकार में राज्य मंत्री बन कर लोगों की सहायता की।

ओडिशा में भारतीय जनता पार्टी और बीजू जनता दल गठबंधन सरकार के वक्त, मुर्मू जी 6 मार्च 2000 से 6 अगस्त 2002 तक परिवहन और वाणिज्य के लिए स्वतंत्र प्रभार मंत्री के पद पर रही थी। जिसके बाद साल 2013 में उनको मयूरभंज जिले हेतु पार्टी का जिला अध्यक्ष बनने के लिए पदोन्नत किया गया था।

शुरुआती समय से अभी तक उन्होंने अपने जीवन में काफी अच्छे अच्छे काम किए, जिसे देखते हुए उनको साल 2022 में भारत के एक सम्मानित पद राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार के लिए चुना लिया गया।

राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनते ही मिलने लगी बधाईयाँ


  • गृह मंत्री अमित शाह ने द्रौपदी मुर्मू जी को बधाई देते हुए ट्वीट किया कि “द्रौपदी मुर्मू जी ने जनजातीय समाज में शिक्षा के प्रति जागरूकता फैलाने व जनप्रतिनिधि के रूप में लम्बे समय तक जनसेवा करते हुए सार्वजनिक जीवन में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है। इस पद की प्रत्याशी बनने पर मैं उनको शुभकामनाएं देता हूँ और मुझे यह विश्वास है कि मुर्मू जी निश्चित रूप से राष्ट्रपति बनेगी।"
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए चुने जाने पर शुभकामना दी है।
  • मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी द्रौपदी मुर्मू जी को बधाई देते हुए कहा की “द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए चुनना आदिवासी समुदाय के गर्व की बात है।"
  • भाजपा अध्यक्ष जे.पी. नड्डा जी ने भी कहा है कि “इस बार पार्टी नेताओं के बीच राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए 20 नामों पर चर्चा हुई और द्रौपदी मुर्मू के काम को देखते हुए उनको भाजपा की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए चुना गया है. वह अगर चुनाव जीतती हैं, तो वे राष्ट्रपति बनने वाली पहली वे पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति होगी।"

Conclusion (Draupadi Murmu Biography in Hindi)


तो दोस्तों यह था Draupadi Murmu Biography in Hindi उम्मीद करता हु आपको मेरे द्वारा लिखा गया यह लेख काफी ज्यादा पसंद आया होगा। साथ ही आज काफी कुछ नया जानने को भी मिला होगा। 

मैने इस पोस्ट में आपको विस्तार से द्रौपदी मुर्मू जी के बारे में बताया है। यदि अभी भी आपके मन में कोई सवाल या doubt है, तो आप हमसे comment करके जरूर पूछें। हम आपकी पूरी सहायता करेंगे।

साथ ही कॉमेंट में ये भी बताएं की आपको भारत की नई राष्ट्रपति कैसी लगी। आखिर में जाते जाते आपसे बस यही कहना चाहूंगा कि इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तो और सभी सोसल मीडिया प्लेटफॉर्म पर share करना न भूले।

ताकि भारत के सभी लोगो को पता चल सके की भारत की नई राष्ट्रपति कौन है और उनका जीवन परिचय क्या है?

धन्यवाद!

हमेशा सीखते रहिए ❤️

Read Related Articles:

Post a Comment

Previous Post Next Post